मेरे पढ़ने-लिखने का आखिरी दिन

याद है वो दिन जब मैंने बाहरवीं का आखिरी पेपर दिया था, उस दिन मुझे लगा था ये मेरे पढ़ने-लिखने का आखिरी दिन है| आगे मुझसे कुछ नहीं होगा और ना ही मेरे माँ- बाप को कोई उम्मीद बची है मुझसे|
मुझे याद है मैथ्स का पेपर आखिरी पेपर था और question पेपर मिलने के एक घंटे में मैं पेन बंद कर के बैठ गयी थी| जब invigilator मुझसे पूछने आयी- क्या हुआ? सारे Questions लिख लिए क्या?

मैंने भी सच बोला- “Yes Ma’am, सारे questions लिख दिए| ” अब questions ही उतारे थे मैंने क्योंकि जवाब तो आता नहीं था किसी का| अंडा से ज्यादा की कोई उम्मीद नहीं थी|
बगल में बैठा, मेरी शक्लें ताड़ रहा था- ये ले पेपर, लिख लो कुछ| अब भाई कुछ पढ़ा हुआ हो तभी तो लिखूं, ऐसे भी पुरे question पेपर में मुझे वो Cone और Rectangle बनाने की वजह समझ नहीं आ रही थी|
मैंने समय बर्बाद करने के लिए फिर से questions उतार लिए थे|
एग्जाम खत्म हो चूका था और मेरी मुझसे आगे बढ़ने की उम्मीद! सारे बच्चे खुश थे और मैं उन सबको एक कोने से देख रही थी| सामने जाने में शर्म आ रही थी लेकिन मुझे पता था कोई इतनी जहमत भी नहीं उठाएगा मुझसे पूछने कि| बात ही कहाँ किया था मैंने उन दो सालों में किसी से|
उस दिन की उदासी सिर्फ उदासी नहीं थी, उसमें कही आगे न पढ़ पाने का दुःख भी था, कुछ आगे न कर पाने का दुःख था, किसी अच्छे कॉलेज में पढ़ने का रास्ता बंद होता दीख रहा था| आखिर कितनी गलतियां की थी मैंने उन दो सालों में|

Confession-1

Advertisements

3 thoughts on “मेरे पढ़ने-लिखने का आखिरी दिन”

  1. Somebody who learn from their mistake is intellegent one..
    But who learn from others mistake is smart one..
    U r both.. Waise itni to padaku h tu ab..

    Like

  2. This is the situation of lots of people by the way someone said that
    marks doesn’t define us they are just numbers which everyone will forgot after some time
    the only thing they going to rember is who you really are

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s